Digital clock

Saturday, June 20, 2015

Shanti se jine ke do tarike

शायद..........

"पतंग सी है ज़िन्दगी, कहाँ तक जाएगी... रात हो या उम्र एक ना एक दिन कट ही जाएगी..."

हम तो सोचते थे कि लफ्ज़ ही चोट करते हैं,
पर कुछ खामोशियों के ज़ख्म तो और भी गहरे निकले,

शायद..........
सैल्फी इस बात का प्रमाण है कि
हम ज़िंदगी में इतने अकेले रह गए हैं
कि हमारे आस पास हमारी फोटो
खींचने वाले यार दोस्त भी नहीं बचे.

 Apko chahne vala hmesha apse har baat share krta hai....!!
But
Apko dhokha dene vala hmesha apse vhi baat krega jo apko achhi lgti ho...
Agree Frndz yes or no

रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने वाले लड़के

रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने वाले लड़के
की नजरें अचानक
एक बुजुर्ग दंपति पर पड़ी।
उसने देखा कि वो बुजुर्ग
पति अपनी पत्नी का हाथ
पकड़कर
उसे सहारा देते हुए चल रहा था ।
.
थोड़ी दूर जाकर वो दंपति एक
खाली जगह
देखकर बैठ गए ।
कपड़ो के पहनावे से वो गरीब
ही लग रहे
थे ।
.
तभी ट्रेन के आने के संकेत हुए और
वो चाय वाला अपने
काम में लग गया।
शाम में जब वो चाय
वाला वापिस स्टेशन
पर आया तो देखाकि
वो बुजुर्ग
दंपति अभी भी उसी जगह बैठे
हुए है ।
.
वो उन्हें देखकर कुछ सोच में पड़
गया ।
देर रात तक जब चाय वाले ने उन
बुजुर्ग
दंपति को उसी जगह पर
देखा तो वो उनके पास गया और
उनसे पूछने
लगा: बाबा आप
सुबह से यहाँ क्या कर रहे है ?
आपको जाना कहाँ है ?
.
बुजुर्ग पति ने अपना जेब से कागज
का एक
टुकड़ा निकालकर
चाय वाले को दिया और कहा:
बेटा हम
दोनों में से किसी को
पढ़ना नहीं आता,इस कागज में मेरे
बड़े
बेटे का पता लिखा
हुआ है ।मेरे छोटे बेटे ने
कहा था कि अगर
भैया आपको लेने
ना आ पाये तो किसी को भी ये
पता बता देना,
आपको सही
जगह पहुँचा देगा ।
.
चाय वाले ने उत्सुकतावश जब
वो कागज
खोला तो उसके होश
उड़ गये । उसकी आँखों से एकाएक
आंसूओं
की धारा बहने लगी ।
.
उस कागज में लिखा था कि.........
"कृपया इन दोनों को आपके शहर के
किसी वृध्दाश्रम में
भर्ती करा दीजिए, बहुत बहुत
मेहरबानी होगी..."
दोस्तों !
धिक्कार है ऐसी संतान
पर,
इसके
बजाय तो बाँझ
रह जाना अच्छा होता है !
इसको इतना शेयर करो कि कोई
औलाद
यह पढ़े
तो जाग जाये !
यह पोस्ट मेरे दिल को छू गई है
अगर आपके दिल छुई है तो is post ko
share kre........
I LOVE U MUMMY-PAPA

agar ye story aap ko achhi lage to pleaz share jarur kare

दुनिया में सिर्फ दिल ही है ....
जो बिना आराम किये काम करता है,...
इसलिए उसे खुश रखो.....चाहे वो अपना हो...या
अपनों का....!

मैं तुम्हें क़िस्मत की लकीरों से भी चुरा लेता..
तुमने मेरे होने का दावा तो किया होता...!!

लड़कियां चीड़ीयां होती हैं
पर... पंख नही होते लड़कियों के..
मायके भी होते हैं
ससुराल भी होती है
पर... घर नही होते लड़कियों के

मां बाप कहते हैं ये बेटियां तो परायी हैं
पर.. ससुराल वाले कहते हैं ये तो पराये घर से आई है ...
.......भगवान
अब तू ही बता ये बेटियां
किस.. घर के लिये बनाई हैं..!!!

मंज़िलें मुझे छोङ गई हैं ।
रास्तों ने संभाल लिया है ।।
जा ज़िदगी तेरी जरूरत नही ।
मुझे हादसो ने पाल लिया है ।।

मूझे उसकी ये नादान अदा बहुत भाती है।
नाराज़ मुझसे होती है और गुसा सबको दिखाती है।

Ek ladka aur ek ladki
dono dost
the.
.
Wo ladki hamesha usko
msg
bhejti thi..
.
wo ladki us ladke ko
apna best
friend maanti thi,
.
par wo ladka usko apna
sirf
friend hi maanta tha..
.
Ek raat us ladki ne usko
ek msg
bheja,
.
ladkene dekha uska
msg tha, wo
bina msg dekhke hi
so gaya...
.
Dusre din us ladkene
ladki ko call
kiya,
.
phone uski maa ne
uthaya.
.
"Kal raat us ka accident
hogaya
aur usme us ladki
ki maut ho gayi.."
.
Tab us ladkene uska kal
raat bheja
hua msg dekha,
usme likhatha,
.
"Hi dost, plz tum
tumare gharke
samne aa jao,
.
mera accident ho gaya
hai, plz
help me I need u..."
.
Yaad rakhna DOST kabhi
bhi kisi
ka CALL ya MSG
.
aaye to use usi waqt
par receive
karna kyun ki,
.
"Aap k zindagi ke do pal
kisi ko
zindagi de sakte hai.
.
agar ye story aap ko achhi lage to pleaz share jarur kare..


 

मुझे वो रिश्ता चाहिए है..

कितनी जल्दी दूर चले जाते है वो लोग।।.
जिन्हें ज़िन्दगी समझ कर हम खोना नही चाहते।

पप्पू समंदर किनारे लेटा धूप ले रहा था..
एक अमेरिकन :- आर यू रिलैक्सिंग ?
पप्पू :- नो डियर आई एम पप्पू.
थोड़ी देर बाद एक दूसरा अमेरिकन
वहां से गुजरा :- आर यू रिलैक्सिंग ?
पप्पू चिल्लाकर :- कमीने, आई एम पप्पू !
फिर खिजलाकर पप्पू वहां से उठकर
दूसरी तरफ चला गया. जहाँ एक अमेरिकन
सुंदरी लेटी थी
पप्पू ने उससे पूछा :- आर यू रिलैक्सिंग ?
अमेरिकन सुंदरी :- यस, आई एम
रिलैक्सिंग..
पप्पू उसे एक तमाचा मार के बोला -
साली , यहाँ पड़ी है,
उधर तुझे तेरे घरवाले ढूंढ रहे हैं."  



Aaj phir aaina puchta hai ki teri aankhon mein nami kyun hai, jiski chahat mein khud ko bhula diya phir uski chahat mein kami kyun hai�.

1 रूपया की कीमत क्या है मै बताता हूँ...
.
सुपर बाज़ार व मौल से 1 रुपया क्यों वापस क्यों लेना चाहिए। मानलो 500 लोग बिगबाजार जाते है रोजाना कोई भी खुल्ले पैसे वापस...


मुझे वो रिश्ता चाहिए है..
जिसमें "मैं" या "तुम" ना हो.. बस "हम" हो...!!


  

Agar dusro ko dekhkar

तुम्हारा हर अंदाज़ अच्छा है ! सिवाय नज़र अंदाज़ करने के !

तुम्हारा हर अंदाज़ अच्छा है ! सिवाय नज़र अंदाज़ करने के !

एक अच्छा रिश्ता हवा की तरह होना चाहिये...........
खामोश............... मगर हमेशा आस पास..........

अचानक खुशनुमा मोंसम में
ये आंधी कैसी आने लगी
चुप हो जा बेटा,
बीवियां सबकी घर वापिस आने लगी ...

बस यही दो मसले, ज़िन्दगी भर ना हल हुए!!!
ना नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुकम्मल हुए!!!
वक़्त ने कहा.....काश थोड़ा और सब्र होता!!!
सब्र ने कहा....काश थोड़ा और वक़्त होता!!!



😔 उदास रहता है मोहल्ले में बारिशों का पानी आजकल .....
सुना है बड़े हो गए हैं अब कागज की नाव बनाने वाले🚤.....!!!!

नया कुछ भी नहीं हमदम वही आलम पुराना है।
तुम ही को भुलाने की कोशिशें और तुम ही को याद आना है....

Taklif tab hoti hai

दूर जाने की जरुरत ही क्या थी मुझसे....

कितना मुश्किल होता है ना…
एक टूटे हुए मन के साथ …जिन्दा जिस्म को ढोना !!

दूर जाने की जरुरत ही क्या थी मुझसे.....
तुम पास रह कर भी मेरे कब थे........

मन में है जो साफ साफ कह दो,
फैसला... फासले से बेहतर होता है !

वक़्त गुजरने के बाद अक़्सर ये अहसास होता है,
जो बीत गया लम्हा वो बेहद खास होता है...!!

हम चाहते तो कब का उसे मना लेते
मगर वो रूठा नहीं है........ बदल गया है......

अजीब सी कश्मकश हैं किस्मत् की ।
मेरे पास पाने के लिये भी तुम खोने के लिये भी तुम ।

 

बहुत ही सुंदर पंक्तियां भेजी है, फारवर्ड करने से खुद को रोक नहीं पाया ....

बहुत ही सुंदर पंक्तियां भेजी है, फारवर्ड करने से खुद को रोक नहीं पाया ....
जब भी अपनी शख्शियत पर अहंकार हो,
एक फेरा शमशान का जरुर लगा लेना।
और....
जब भी अपने परमात्मा से प्यार हो,
किसी भूखे को अपने हाथों से खिला देना।
जब भी अपनी ताक़त पर गुरुर हो,
एक फेरा वृद्धा आश्रम का लगा लेना।
और….
जब भी आपका सिर श्रद्धा से झुका हो,
अपने माँ बाप के पैर जरूर दबा देना।
जीभ जन्म से होती है और मृत्यु तक रहती है क्योकि वो कोमल होती है.
दाँत जन्म के बाद में आते है और मृत्यु से पहले चले जाते हैं...
क्योकि वो कठोर होते है।
छोटा बनके रहोगे तो मिलेगी हर
बड़ी रहमत...
बड़ा होने पर तो माँ भी गोद से उतार
देती है..
किस्मत और पत्नी
भले ही परेशान करती है लेकिन
जब साथ देती हैं तो
ज़िन्दगी बदल देती हैं.।।
"प्रेम चाहिये तो समर्पण खर्च करना होगा।
विश्वास चाहिये तो निष्ठा खर्च करनी होगी।
साथ चाहिये तो समय खर्च करना होगा।
किसने कहा रिश्ते मुफ्त मिलते हैं ।
मुफ्त तो हवा भी नहीं मिलती ।
एक साँस भी तब आती है,
जब एक साँस छोड़ी जाती है!!"🌺.

Meri awaz ko

Mujhe allah k indaaf par




Dil karta hai





Shakhs khud hi




Tuesday, June 2, 2015

कितनी ही खूबसूरत क्यों न हो तुम,,

कितनी ही खूबसूरत क्यों न हो तुम,,
पर मैं जानता हूँ..
असली निखार मेरी तारीफ से ही आता है.....



Mila hai sab kuch toooo






WO log








"समय" दिखाई नहीं देता...... पर बहुत कुछ दिखा जाता है...!

"वेद पढ़ना आसान हो सकता है...
लेकिन...
किसी की वेदना पढ़ना बहुत कठिन है...
जयश्रीकृष्ण!

अब तो आँखों से भी जलन होती हैं मुझे..........
खुली हो तो तलाश तेरी, बंद हो तो ख्वाब तेरे.........

पा ना सके तो भी हम तुझे प्यार करतेरहेंगे!
ये जरूरी तो नही जो मिल ना सके उसे भुला
दिया जाए !

बचपन से ही शौक था ,
अच्छा इन्सान बनने का.....।।
बचपन खतम ,
शौक खतम......।।

"समय" दिखाई नहीं देता......
पर बहुत कुछ दिखा जाता है...!

मेरे शब्दो को इतनी

समय नहीं लगता है दिल को दिल तक आने में..
लेकिन सदियाँ लग जाती है रिश्ता एक भुलाने में..

*¨ खोए हुए
हम खुद रहते हैं, .,,..., ~◐
और
ढूंढते आप को हैं ,,..., ~◐

!
क्या अजीब सी ज़िद है हम दोनों की
तेरी मर्ज़ी हमसे जुदा होने की, और मेरी तेरे पीछे तबाह होने की...!!!
!

वो रूठ्कर बोली तुम्हे सारी शिकायते हमसे
ही क्यू हैं..., हमने भी सर झुकाकर बोल दिया की हमे
सारी उम्मीदे भी तो तुमसे ही हैं !!

ये कौन शरमा रहा है...यूँ फ़ुर्सत में याद कर के .....
के हिचकियाँ आना तो चाहती है,
पर हिच-किचा रही हैं...!!

दिल के टूटने पर भी हँसना,
शायद "जिन्दादिली" इसी को कहते हैं।
ठोकर लगने पर भी मंजिल के लिए भटकना,
शायद "तलाश" इसी को कहते हैं।
सूने खंडहर में भी बिना तेल के दिये जलाना,
शायद "उम्मीद" इसी को कहते हैं।
टूट कर चाहने पर भी उसे न पा सकना,
शायद "चाहत" इसी को कहते हैं।
गिरकर भी फिर से खड़े हो जाना,
शायद "हिम्मत" इसी को कहते हैं।
उम्मीद, तलाश, चाहत, हिम्मत,
शायद "जिन्दगी" इसी को कहते हैं


कमाल का ताना दिया
आज किसी ने मुझे..
के लिखते तो खुब हो..
कभी उसे भी समझा दिया करो.!!


जरुरी तो नहीं था ..हर चाहत का मतलब इश्क हो..!!
कभी कभी कुछ अनजान रिश्तो के लिए भी दिल बेचेंन हो जाता हे..!!


हर शख्स मुझे एक अख़बार समझकर....!!
अपने मतलब की ख़बर काट लेता है....!!!

तलाश में बीत गई सारी
जिंदगानी...अब समझे कीखुद से बड़ा कोई
हमसफ़र नहीं होता !!

मेरे शब्दो को इतनी
शिद्दत से ना पढा करो...
कुछ याद रह गया तो
हमे भूल नही पाओगे !!!

जिन्दगी मे आने के समाचार तो
नौ महीने पहले मालूम हो जाते हे ,
लेकिन जाने के समाचार नौ सैकन्ड़
पहले भी पता नही पड़ते ।।
इसलिए......
मस्त रहो व्यस्त रहो ,आनंदित रहो 
 

Bachpan


Door rehne wale tujhse ek bat kehna chahta

Door rehne wale tujhse ek bat kehna chahta
hu...!! agar  mera khyal aaye to apna khyal rakhna....

आखिर थक हार के लौट आया मैँ बाजार से
यादो को बंद करने के ताले कही नही मिले...!!

हासिल करके तो हर कोई मोहब्बत कर सकता है,
बिना हासिल किए किसीको चाहना कोई हमसे पूछे !

jo dil ke aaine me ho,,,, wo hai pyar k kabil..... warna deewar k kabil to har tasvir hoti hai

सोचते है, अब हम भी सीख
ले ...यारों बेरुखी करना ......!
सबको मोहब्बत देते-देते, हमने अपनी कदर
खो दी है......!!🌕🌹🚶

 

Sad

क्या अजीब दस्तुर बना है यारो
खुद को जीने के लिये कीसी पे मरना पडता है..

मेरी मोहब्बत की ना सही, मेरे सलीके की तो दाद दे,
तेरा जिक्र रोज करते हैं तेरा नाम लिए बगैर..


तेरी यादें भी न मेरे बचपन के खिलौने जैसी हैं
तन्हा होता हूँ तो इन्हें लेकर बैठ जाता हूँ !


वो खुश है मुझसे ज़ुदा हो कर
मैं खुश हूँ उसे आज़ाद देख कर...
बंदिशों में कभी मुहब्बत नहीं होती….

 

Meri Choti

“यूँ तो हम अपने आप में गुम थे,
पर सच तो ये है कि वहाँ भी तुम थे...।

बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा महोल्ला,
जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे ....

अजब रिश्ते का अनुभव जिन्दगी में अपनों से मिला ,
ना नफरत की वजह मिली ना मोहब्बत का सिला मिला ....

मुस्कुराने की आदत भी कितनी महंगीपडी हमको , उनहोंने छोड दिया ये कहकर कि तुम तो अकेले ही खुश रह लेते हो.

तेरे जाने के बाद कोई सहारा भी तो नहीं .
तुजे कभी तन्हाई में पुकारा भी तो नहीं ..
तुजे हम आज भी चाहते है बहुत ...
मगर फिर भी तू हमारा तो नहीं ….!!

"हाथ की लकीरें भी कितनी अजीब हैं,
हाथ के अन्दर हैं पर काबू से बाहर!"

जिस घाव से खून नहीं निकलता..!!
. . .
समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने ने ही
दिया है.!!

 

Maine Har

I like you I love you..

I like you
I love you..
दोनों में क्या अंतर है?
इसका सबसे सुन्दर जवाब गौतम बुद्ध ने दिया है:
अगर तुम 1 फूल को like करते हो तो तुम उसे तोड़कर रखना चाहोगे।
लेकिन अगर उस फूल से love करते हो तो तोड़ने के बजाय तुम रोज उसमे पानी डालोगे ताकि फूल मुरझाने न पाए।
जिसने भी इस रहस्य को समझ लिया समझो उसने पूरी जिंदगी को ही समझ लिया।

किस हक से मांगू अपने हिस्से का वक़्त आपसे..?

किस हक से मांगू अपने हिस्से का वक़्त आपसे..?
क्योंकी ना आप मेरे..और..ना ही वक़्त मेरा..!!

कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती है ज़िन्दगी

कभी जिंदगी एक पल में गुजर जाती है ज़िन्दगी
कभी जिंदगी का एक पल नहीं गुजरता ।।

आसान नही है हमसे यूँ शायरियों में जीत पाना,

आसान नही है हमसे यूँ शायरियों में जीत पाना,
हम हर एक शब्द मोहब्बत में हार कर लिखते हैं..!!

लाखों की है कोशिशें हमने तुमको भुलाने की,

लाखों की है कोशिशें हमने तुमको भुलाने की,
छोड़ी नहीं कमी कोई तुमने भी याद आने की !!

छोड़ दिया सबको बिना वजह तंग करना...;

छोड़ दिया सबको बिना वजह तंग करना...;
जब कोई अपना समझता ही नही..,
तो उसको अपनी याद दिला कर क्या करना...

ज़िन्दगी में दो चीजें हमेशा टूटने के लिए ही होती है!

ज़िन्दगी में दो चीजें हमेशा टूटने के लिए ही होती है!
"साँस" और "साथ"....
साँस टूटने से तो ईन्सान एक ही बार में मर जाता है!
पर किसीका साथ टूटने से ईन्सान पल-पल मरता है!